Wednesday, June 27, 2012

दिल का ऐतबार कीजिये ..???


ये जिन्दगी इम्तेहान है ...
और जो ये मोहब्बत है , 
जिन्दगी की है, एक जरूरत |


आदमी जो कहे , 
दिल का ऐतबार कीजिये 
रूठे हुए मुकदर को ...
मंजिलो को पाने की ,
एक नयी शुरुआत दीजिये |


लेकिन जो मैंने दिल से पूछा ....
क्या है , प्यार ?? 
उसने कहा एक रोग है , 
जिसकी हर आदमीं बनता है , शिकार ..|


जो कहते है , प्यार है ... 
वो खफा होना भी चाहेगे |
आज जो पल भर भी दूर नहीं है , 
वो किसी दिन तुमसे दूरियाँ बढायेगे ...
और ये दिल..ल...ल... तो है दिल ...
किसी बात पर ... टूट ही जायेगा |


15 comments:

  1. PYAR KA DARD SMETE KHOOBSOORAT PANKTIYAN.

    ReplyDelete
  2. धन्यवाद जी आभार ...

    ReplyDelete
  3. कल 29/06/2012 को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  4. gar milaa koi apne man kaa
    tootaa dil to phir jud jaayegaa
    man ko samhaal kar rakho
    man jo toot gayaa
    to sab kuchh lut jaayegaa

    ReplyDelete
  5. Dur rehkar bhi hum unko bhula nahi sakte
    paas aakar bhi apni mannjil paa nhi sakte
    ek fasla hume bnakar rkhna hai mohabbat me
    kya hai majburi hamari ye bhi bta nhi skte

    ReplyDelete
  6. Dur rehkar bhi hum unko bhula nahi sakte
    paas aakar bhi apni mannjil paa nhi sakte
    ek fasla hume bnakar rkhna hai mohabbat me
    kya hai majburi hamari ye bhi bta nhi skte

    ReplyDelete
  7. क्या है , प्यार ??
    उसने कहा एक रोग है ,

    (: ये ठीक नहीं !

    ReplyDelete
  8. धन्यवाद आप सभी का .... आभार

    ReplyDelete
  9. awesome title..
    and opening lines were lovely..

    Nice read..

    ReplyDelete
  10. दिल तो बच्चा है जी...सुन्दर..:)

    ReplyDelete
  11. जो कहते है , प्यार है ...
    वो खफा होना भी चाहेगे |
    आज जो पल भर भी दूर नहीं है ,
    वो किसी दिन तुमसे दूरियाँ बढायेगे ...
    और ये दिल..ल...ल... तो है दिल ...
    किसी बात पर ... टूट ही जायेगा |

    दिल का न करना एतबार कोई.....!!

    ReplyDelete
  12. आप सभी का बहुत बहुत आभार .... धन्यवाद आप सभी का ...

    ReplyDelete